नयी किताब आ गई हो बच्चो के रिजल्ट आ गए हो

“चलो पीहर चलो पीहर”
अगर बच्चो की बुक्स रद्दि में देदी हो

नयी किताब आ गई हो बच्चो के रिजल्ट आ गए हो,
तो चलो पीहर चलो पीहर

मिर्ची, हल्दी, धनिया भर दिए हो,
जीरा, राई, अजमा साफ कर दिए हो,
गेहू अगर भर दिए हो तो,
चलो पीहर चलो पीहर

केर का आचार दल दिया हो,
साबूदाने की चकरी हो गई हो,
ननन्द रहकर जा चुकी हे या,
भाभी रहे कर आ चुकी हे तो,
चलो पीहर चलो पीहर

गरम गरम खाने को,
ठंडा ठंडा पिने को,
देर से रात में सोने को,
देर से सुबह उठने को,
माँ के हाथ का खाने को,
भाभी का प्यार पाने को,
भाई से बात करने को,
भतीजो से मस्ती करने को,
बच्चों के साथ बच्चा बनने को,
अपनी मनमानी करने को,
चलो पीहर चलो पीहर

छुंदा और केर का आचार डालने तक
वापस आयेंगे साडे 11 महीने ससुराल में
रहने के लिए पीहर से 15 दिन में प्यार का डोज़ लाने को
15 दिन के पेट्रोल से ससुराल में
साडे 11 महीने हम ओरतो की गाड़ी भागती हे !!

इस लिए चलो पीहर चलो पीहर